Home

Welcome to your new site.

Welcome to your new site! You can edit this page by clicking on the Edit link. For more information about customizing your site check out http://learn.wordpress.com/

Latest from the Blog

वो कौन है

सच कह न सकी क्यों,झूठ एक छुपा के गईजानबूझ कर मुझे गहरी-सी नींद में सुला के गईजल रहे थे मन में दीये-रौशनी के, बुझा के गईछोड़ के मुझे अँधेरे में,वो इस पार आ के गईकम न पड़ें प्रेमाश्रु वो,बादलों को ला के गईजिसे ही देखने की हसरत थी हर वक़्त,वो जाते जाते-मुझे आईना दिखा केपढ़ना जारी रखें “वो कौन है”

‘कोहिनूर’

दिल पे मेरे छाया कैसा ये सुरूर हैहर सुर को अपने ताल पे ग़ुरूर हैसच कहूँ तो वक़्त का ही क़ुसूर हैकहीं तो कोई बात अब ज़रूर हैहर किसी से बढ़कर आपका ही नूर है‘शिवि’ जग में चाहे लाख कोहिनूर है…

तुम

तुम ही दिल हो,तुम ही मन हो,पल-पल की मेरी सोच हो तुम,ख़ुदा मेहरबाँ है कि मेरी शब्दकोष हो तुम…

Get new content delivered directly to your inbox.

Create your website at WordPress.com
प्रारंभ करें