Home

Welcome to your new site.

Welcome to your new site! You can edit this page by clicking on the Edit link. For more information about customizing your site check out http://learn.wordpress.com/

Latest from the Blog

ग़ज़ल- देखना तुम जब वो इस तरफ़ आएंगे

देखना तुम जब वो इस तरफ आएंगेसितारे शहर में झिलमिलाते रहेंगे क़दम उनके जिधर-जिधर भी पड़ेंगेउधर चराग़ सारे जगमगाते रहेंगे वो लबों से अपने ‘ग़र मेरा नाम ले लेंधड़कन गीत कोई गुनगुनाते रहेंगे जब तलक बाक़ी है जाँ निकल नहीं जातीयादें बनके कसक बस सताते रहेंगे कुर्बत-ए-यार किसी दिन नसीब होगीअहल-ए-दिल आँखें बरसाते रहेंगे रुख़सारपढ़ना जारी रखें “ग़ज़ल- देखना तुम जब वो इस तरफ़ आएंगे”

कैसे ????

धैर्य रख कर चुपचाप बैठे रहेंगे कैसेहाथ दामन पर डालोगे तो सहेंगे कैसे ——————––———————————————————————————————————————— हाथरस केस में ‘मनीषा’ के भाई ने बताया कि ‘दीदी’ बेहोश पड़ी थी लेकिन पुलिस ने कहा कि बहाना बना कर लेटी हुई है।कितनी शर्मनाक बात है। पुलिस प्रशासन संवेदनहीन हो चुका है। हम इनसे हमारी सुरक्षा और न्याय की उम्मीदपढ़ना जारी रखें “कैसे ????”

कैसे ???

क़ब्र खोद कर इंसानियत कीअपना फ़र्ज निभाओगे कैसेआईने में देखो कोई पूछता हैबेटी से नज़रें मिलाओगे कैसे ————————————————————————————————————————————————————————– हाथरस की ‘गुड़िया’ का पुलिस ने जबरन दाह संस्कार कर दिया। परिवार को शव भी नहीं सौंपा। पीड़िता के बयान के बावजूद उसके साथ दुष्कृत्य की घटना को निराधार बताया।पुलिस व्यवस्था किस रसूख़दार को बचाने का प्रयत्नपढ़ना जारी रखें “कैसे ???”

Get new content delivered directly to your inbox.

Create your website at WordPress.com
प्रारंभ करें